लहसुन के फायदे

लहसुन (एलियम सैटिवम) प्याज की एक प्रजाति है, एलियम। इसके करीब सब्जी में प्याज, शैलोट, लीक, लाइव, चीनी प्याज (चाइनिज अनियन) शामिल है।

लहसुन एक जड़ी बूटी है जो दुनियाभर में उगाई जाती है।

पोषण का महत्व

1 औंस (28 ग्राम)-परोसी गई लहसुन की मात्रा (5):

मैंगनीज : आरडी (RDA) का 23%

विटामिन B6:आरडीए (RDA)का 17%

विटामिन C: आरडी (RDA) का 15%

सेलेनियम : आरडी (RDA) का 6%

लहसुन विटामिन सी और बी 6 का एक अच्छा स्रोत है, साथ ही इसमें जिक मैग्नीशियम और सेलेनियम सहित रेंज भी शामिल हैं जो मस्तिष्क और तंत्रिका को स्वस्थ रखने में मदद करता है। जब लहसुन की एक कली को काटकर चलकर या चबाकर खाया जाता है तो सल्फर थगिक निर्मित होता है, जिसके कारण आकाश स्वास्थ्य लाभ मिलता है। संभवत इसे प्रसिद्ध संतान के रूप में जाना जाता है।

हृदय के लिए लाभकारी

उच्च कोलेस्ट्रॉल वाले लोगों के लिए लहसुन की खुराक कुल और/या एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को लगभग 10-15% तक कम करता है। एलडीएल (बुरा) और एचडीएल(अच्छा) कोलेस्ट्रॉल को देखते हुये, विशेष रूप से लहसुन एलडीएल को कम करता हुआ प्रतीत होता है और एचडीएल पर कोई प्रभाव नहीं डालता है। लहसुन कुल और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। 2018 के अध्ययन में, पुराना लहसुन का एक कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर लाभकारी प्रभाव दिखाता है।मानव अध्ययन किया गया है कि लहसुन का सप्लीमेंट (पूरक) उच्च रक्तचाप वाले लोगों में रक्तचाप को कम करने में महत्व) प्रभाव डालता है।

एक अध्ययन में 600-1500 मिलीग्राम पुराने लहसुन का अर्क 24 सप्ताह की अवधि में रक्तचाप को कम करने वाली दवा एटेनोलोल के समान ही प्रभावी था। लहसुन की उच्च खुराक उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) वाले लोगों के लिए रक्तचाप में सुधार करती दिखाई देती है।