रिवर्सल – सबसे अधिक विवेकशील उपचार।

रिवर्सल – सबसे अधिक विवेकशील उपचार।
ब्लॉकेज वसीय पदार्थों के धीमे लेकिन सतत् जमाव के कारण होती है – हृदय की धमनियों के अंदर कोलेस्ट्रॉल और ट्राईग्लिसराॅइड्स और हमारी आधुनिक जीवनशैली ने इसे बढ़ावा दिया है। कोरोनरी हार्ट डिज़ीज़ के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण समाधान एक स्थायी प्रक्रिया को अपनाने में निहित है, जो न केवल ब्लॉकेज को रोकती है, बल्कि इसको ठीक भी करती है। ब्लॉकेज को धीरे-धीरे ख़त्म करने के लिए, एक आदर्श शारीरिक वातावरण की आवश्यकता होती है, जिसमें ब्लॉकेज से कोलेस्ट्रॉल और वसा को हटाया जाता है।
साओल हार्ट प्रोग्राम लोगों को उस आदर्श शरीरिक वातावरण को बनाने में मदद करता है, जिसमें उन्हें प्रशिक्षण दिया जाता है कि कैसे सभी जोखिम कारकों को एक साथ ख़त्म किया जाए, जिसमें कोरोनरी हार्ट डिज़ीज़ की पूर्ण जानकारी और समझ शामिल है, व्यावहारिक रूप से संभव तनाव प्रबंधन कार्यक्रम, तंबाकू तथा धूम्रपान पर प्रतिबंध, खाद्य जागरूकता जिसमें चिकनाई अथवा तेल के बिना भोजन पकाने का प्रशिक्षण शामिल है। इस प्रकार, यह व्यक्ति को सही जीवनशैली अपनाने के लिए निर्देशित करता है, जो ब्लॉकेज को ख़त्म कर सकता है। ये सभी हृदय रोग विशेषज्ञों, आहार विशेषज्ञों, योग विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में ही किया जाना चाहिए – जिससे इनसे होने वाले दुष्प्रभावों तथा जटिलताओं से बाचा जा सके – जो कि हृदय रोगियों के लिए आसानी से विकसित हो सकती हैं।
अतः, रोगियों के लिए कोरोनरी हार्ट डिज़ीज़ का आदर्श और सबसे वैज्ञानिक उपचार प्राकृतिक रूप से जोखिम कारकों पर नियंत्रण अथवा सुधार करना होगा।

भौतिक

  1. तनाव, चिंता, दुःख और क्रोध का प्रबंधन करना।
  2. शरीर के सामान्य वजन को बनाए रखना।

व्यवहार

  1. तनाव, चिंता, दुःख और क्रोध का उचित प्रबंधन करना।
  2. धूम्रपान और तम्बाकू से संबंधित उत्पादों को त्याग।
  3. भोजन में तेल के सेवन से बचना।
  4. शराब के सेवन से बचना।

चिकित्सा

  1. सामान्य रक्तचाप बनाए रखना
  2. सामान्य सीरम कोलेस्ट्रॉल बनाए रखना
  3. सामान्य एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बनाए रखना
  4. सीरम ट्राईग्लिसराॅइड्स बनाए रखना
  5. सामान्य रक्त शर्करा बनाए रखना
    यदि हृदय रोग को रोकना चाहते हैं, तो इन सभी कारकों पर अनिवार्यता से नियंत्रण करना होगा।
    सीएचडी का विकास तीन कारकों से निकटता से जुड़ा हुआ है। सबसे पहले, दैनिक जीवन में बढ़ते तनाव का स्तर बहुत महत्वपूर्ण है। दूसरे, घटती शारीरिक गतिविधि का स्तर और अंत में, दोषपूर्ण आहार शैली का अनुसरण सभी समान रूप से महत्वपूर्ण हैं।