पानी के विषय में जानकारी

पानी एक रासायनिक पदार्थ है, जिसका रासायनिक सूत्र होता है H2O और पानी का एक अणु, हाइड्रोजन के 2 कण और ऑक्सीजन के 1 कण से मिलकर बनता है और ये एक बांड से जुड़ा होता है जिसे कोवलेंट बांड कहते है। पानी तीन अवस्थाओं में मौजूद हो सकता है और ये अवस्थाएँ हैं ठोस, तरल और गैस अवस्था। सामान्य तापमान और प्रेशर में पानी तरल अवस्था में होता है, 100o C से ऊपर के तापमान में, यह वाष्प में परिवर्तित होने लगता है और 0o C से नीचे यह जमना शुरू होने लगता है और इसे बर्फ कहते है। पृथ्वी की सतह का 70.9% हिस्सा पानी से ढ़का हुआ है और यह सभी जीवित जीवों के लिए महत्वपूर्ण है। वास्तव में मानव शरीर भी ज्यादातर पानी से ही बना हुआ है है; हमारे शरीर का दो तिहाई वजन पानी से आता है।

पानी के रासायनिक गुण:

i. पानी सामान्य तापमान और प्रेशर पर तरल अवस्था में होता है। यह बेस्वाद और बिना किसी महक के होता है। वास्तव में, सभी जीवित प्राणियों को इसके स्वाद और महक की बहुत अच्छी समझ होती है; यहां तक कि जानवर भी गंदा, रासायनिक उपचार या हानिकारक पानी नहीं पीते हैं। पानी और बर्फ का आंतरिक रंग थोड़ा नीला है, हालांकि दोनों बेरंग दिखाई देते हैं।

ii. अधिकांश चीजें बहुत आसानी से पानी में घुल जाती हैं, इसीलिए उन्हें ‘यूनिवर्सल साल्वेंट’ कहा जाता है।

iii. पानी मानव शरीर के वजन के दो-तिहाई से भी अधिक है, जीवित व्यक्ति भोजन के बिना कई दिनों के लिए रह सकते हैं लेकिन दो दिनों के लिए भी पानी के बिना जीवित रहना बहुत मुश्किल है। निर्जलीकरण (लंबे समय तक) रक्त को गाढ़ा कर देता है, जो पूरे शरीर के लिए बहुत हानिकारक है और इसके वजह से हमारे हृदय, गुर्दे और मस्तिष्क को बड़ी क्षति हो सकती है।

iv. मानव मस्तिष्क 95% पानी से बना है, रक्त 82% है और फेफड़े 90% पानी से बने है।

v. हमारे शरीर की पानी की आपूर्ति में मात्र 2% की गिरावट से निर्जलीकरण के संकेत मिल सकते हैं, जैसे त्वचा का कांपना, होठों का फटना, चक्कर आना, और कभी-कभी व्यक्ति बेहोश भी हो सकता है।

शरीर में पानी की क्रिया:

i. पानी शरीर को हाइड्रेट रखता है।

ii. पानी लुब्रिकेंट का काम करता है

iii. सोडियम और पोटेशियम संतुलन को आम तौर पर शरीर का इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखता है।

iv. यह मूत्र और पसीने के माध्यम से शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालता है जो क्रमशः गुर्दे और त्वचा के माध्यम से होता है।

v. शरीर के उचित तापमान को बनाए रखता है, ज्यादातर गर्मियों में पसीने से तापमान कम करता है।

vi. त्वचा और बालों को चमक प्रदान करता है।

vii. रक्त गाढ़ा होने की स्थिति में पानी पीने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह रक्त को पतला करने का काम करता है।

viii. यह मल त्याग को नियंत्रित करता है; वास्तव में वे लोग जिनके पास पर्याप्त पानी नहीं है, कब्ज पैदा कर सकते हैं।

ix. पानी वजन कम करने में मदद कर सकता है।

x. पानी चिंता को कम करने के साथ जुड़ा हुआ पाया गया है, जो लोग ऐसी समस्याओं की शिकायत करते हैं, उन्हें सलाह दी जाती है कि पहले पानी लें, शायद पानी तुरंत शरीर में इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखता है।

इस प्रकार, हम देखते हैं कि पानी जीवन और स्वास्थ्य के लिए कितना महत्वपूर्ण है, हम एक या दो दिन के लिए भोजन के बिना कर सकते हैं लेकिन पानी के बिना जीवन बहुत मुश्किल है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए हर दिन कम से कम 2 से 3 लीटर पानी पीना चाहिए, और मोटापे, हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया, कब्ज या मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए, पानी का सेवन 3 लीटर से कम नहीं होना चाहिए।

उम्मीद है आपको यह ब्लॉग पसंद आया होगा!

अधिक स्वास्थ्य संबंधी ब्लॉग के लिए, कृपया यहाँ क्लिक करें।

हमारी वेबसाइट पर जाने के लिए, कृपया यहाँ क्लिक करें। फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए, कृपया यहाँ क्लिक करें।